Pages

Search This Website

Tuesday, July 12, 2022

Happy Guru Purnima 2022 Status Video Download

Happy Guru Purnima 2022 Status Video Download


Guru Purnima Status Video Download – People’s lives are significantly shaped by their teachers or gurus. Every year, Guru Purnima is predominantly observed by the Hindu, Jain, Sikh, and Buddhist communities all around the world as a way to honor them. According to the Hindu calendar, it occurs on the day of the full moon of Ashadha month.





The day is observed by giving thanks to spiritual instructors and gurus. The Sanskrit words “Gu” and “Ru” combine to form the term “guru.” Gu and Ru both refer to the elimination of ignorance or obscurity. Because they help us learn the appropriate lessons and follow the right path, gurus are essential as they dispel the darkness from our lives. Many people also think that Gautam Buddha delivered his first sermon in Uttar Pradesh on this day.
Take advantage of the chance to thank your masters sincerely on this blessed day. Here are some wishes you might offer your Gurus or teachers on this day.






Check these Guru Purnima status video download options. We have got some of the bestGuru Purnima WhatsApp status videosandGuru Purnima status videos for you to share them with your family and friends on the auspicious occasion of Guru Purnima 2022.
Guru Purnima Status Video Download

Here is the first Guru Purnima status video download option – happy guru purnima status video

Click here to Download Happy Guru Purnima Video






Next Guru Purnima 2022 whatsapp status video – Guru Poornima status video for you

Click here to Download Happy Guru Purnima Video 

Guru Purnima status videos 2022 – Guru Purnima photo hd



Guru Purnima status video download – Guru Purnima status videos

Guru Purnima whatsapp status video – Guru Purnima images photo hd

We hope you liked the above Guru Purnima whatsapp status video download options. Feel free to share these Guru Purnima status videos to wish Guru Purnima 2022 and guru poornima 2022 to your loved ones.

Apart from free Guru Purnima status video download, you can also download Guru Purnima gif,Guru Purnima WhatsApp status videos













Guru Purnima wishes

Have a happy and blessed Guru Purnima!

You are the inspiration that made me fight every hurdle in life. It wouldn’t have been possible without you. Happy Guru Purnima!

On the auspicious day of Guru Purnima, let us take an oath to follow the steps of our Guru.

There will be no darkness in your life when there is a master or Guru in your life! Happy Guru Purnima!

To the world, you may be just a teacher but to your students, you are a hero! May God’s blessings always shower upon you. Happy Guru Purnima!

Blessed is the one who has a Guru in his life. Happy Guru Purnima!

It is a beautiful journey where the Guru leads you from the darkness to the light, from the outer to the inner, and from tears to joy! Thanks for being my Guru. Happy Guru Purnima.

May our Guru keep showering us with His blessings! Happy Guru Purnima to all!

Guru Purnima ke avsar par, Guru Dev ko shat shat naman!

Your guidance led me the right way. Thanks for making me who I am. I wish you a Happy Guru Purnima Day.

Guru is our teacher, friend, mentor, parent, and everything! Happy Guru Purnima!

Life needs some power to push you up, Guru is that superpower. Happy Guru Purnima!

Today is an auspicious day to pray and thank your Guru for everything. Wishing you a Happy Guru Purnima!

Guru hai to sab kuch hai! Guru Purnima ki shubhkamnayein!

We all should be grateful to those who made us meet ourselves. Happy Guru Purnima!

Follow the paths shown by your Guru, and success will surely come to you. Happy Guru Purnima!

May Guru Ji’s divine love and blessings be with you always. Happy Guru Purnima!!



On the auspicious occasion of Guru Purnima, I hope and pray that I always get guided by you, and may you always shower me with your unconditional love. Happy Guru Purnima to you, Teacher.







कविता – 1.
गुरु होना आसान नहीं
गुरु जैसा कोई महान नहीं
गुरु के बिना यह जीवन है अधूरा
गुरु मिल जाए तो हो जाए हर मकसद पूरा
गुरु ने अपना जीवन विद्या को सौंपा है
गुरु भगवान का दिया एक अमूल्य तोहफा हैं
गुरु से ही सीखा है दुनिया का चक्रव्यूह
गुरु की वजह से ही पास किए हैं सारे इंटरव्यू
गुरु से ही जीवन का अर्थ है
गुरु की शिक्षा बिना ये जीवन अधूरा है
गुरु ही शिष्य का हुनर उभारते हैं
गुरु ही हमारी गलतियों को सुधारते हैं
गुरु ही हमारे सच्चे मित्र हैं
गुरु बिना ये ज़िन्दगी बिना रंग के चित्र है
गुरु के पास है सारी उलझनों का हल
गुरु ने खिलाए हैं कीचड़ में भी कमल
गुरु बिना कोई धर्म नहीं गुरु से अच्छा कोई कर्म नहीं,
गुरु से ही समाज की एकता है
गुरु सभी शिष्यों को एक ही नज़र से देखता है
गुरु है इस दुनिया के समंदर में हमारी नाव
जिन्होंने मद्द की हमें पार करने में जीवन के हर पड़ाव
यूं ही अपना आशीर्वाद बनाए रखना
ताकि जीवन के किसी पड़ाव पे ना पड़े हमें भटकना।

Guru Purnima Poem in Hindi

कविता – 2.
हे गुरु मुझे ऐसा वर दो,
जीवन मेरा जगमग कर दो
जिस पथ पर मैंने कदम रखा
उस पथ को शूलहीन कर दो
मर्मज्ञ तुम्हारे कदम तले
सकल विश्व लघु लगता है
हे पंडित, ज्ञानी, प्रज्ञ, सुज्ञ
आचार्य तुम्हारी प्रभुता है
मैं तन की छाती चीर सकूं
मेरा शस्त्र ज्योतिर्मय कर दो
गतिशील मेरी तब नौका हो
जब तूफानों का मौका हो
गिरी तोड़ बढूं आगे पथ में
ध्वज राज करें हरदम रथ में
मैं नभ में स्यदंन चला सकूं
मेरे साहस को दुगुना कर दो
तुम सकल जगत की शक्ति हो
मेरे अंतस्थल की भक्ति हो
यदि भटक जाऊं नीज पथ से मैं
मेरे पथ को आलोकित कर दो।

Guru Purnima Poem in Hindi










कविता – 3.
माँ पहली गुरु हैं और सभी बड़े बुज़ुर्गों ने
कितना कुछ हमें सिखाया है
गुरु पूजनीय हैं
बढ़कर हैं गोविंद से
कबीर जी ने भी हमें सिखाया है
पशु पक्षी फूल काटे नदियाँ
हर कोई हमें सिखा रहा है
भारतीय संस्कृति का कण कण
युगों युगों से गुरु पूर्णिमा की
महिमा गा रहा है।

कविता – 4.
जानवर इंसान में जो भेद बताए,
वही सच्चा गुरु कहलाए
जीवन पथ पर जो चलना सिखाए,
वही सच्चा गुरु कहलाए
जो धेर्यता का पाठ पढ़ाए,
वही सच्चा गुरु कहलाए
संकट में जो हँसना सिखाए,
वही सच्चा गुरु कहलाए
पग-पग पर परछाई सा साथ निभाए,
वही सच्चा गुरु कहलाए
जिसे देख आदर से सर झुक जाए,
वही सच्चा गुरु कहलाए।

कविता – 5.
परम गुरु
दो तो ऐसी विनम्रता दो
कि अंतहीन सहानुभूति की वाणी बोल सकूँ
और यह अंतहीन सहानुभूति
पाखंड न लगे
दो तो ऐसा कलेजा दो
कि अपमान, महत्वाकांक्षा और भूख
की गाँठों में मरोड़े हुए
उन लोगों का माथा सहला सकूँ
और इसका डर न लगे
कि कोई हाथ ही काट खाएगा
दो तो ऐसी निरीहता दो
कि इसे दहाड़ते आतंक के बीच
फटकार कर सच बोल सकूँ
और इसकी चिन्ता न हो
कि इसे बहुमुखी युद्ध में
मेरे सच का इस्तेमाल
कौन अपने पक्ष में करेगा
यह भी न दो
तो इतना ही दो
कि बिना मरे चुप रह सकूँ।

Guru Purnima Poem in Hindi

कविता – 6
मां तुम प्रथम बनी गुरु मेरी
तुम बिन जीवन ही क्या होता
सूखा मरुथल, रात घनेरी
प्रथम निवाला हाथ तुम्हारे
पहली निंदिया छाँव तुम्हारे
पहला पग भी उंगली थामे
चला भूमि पर उसी सहारे
बिन मां के है सब जग सूना
जैसे गुरु बिन राह अंधेरी
जिह्वा पर भी प्रथम मंत्र का
उच्चारण तो मां ही होता
शिशु हो, युवा, वृद्ध हो चाहे
दुख में मां की सिसकी रोता
द्वार बंद हो जाएँ सारे
माँ के द्वार न होती देरी
मां की पूजा विधि विधान क्या
फूल न चंदन, मंत्र सरल सा
प्रेम पुष्प अँजुरी में भर कर
गुरु के चरणों अर्पित कर जा
आशीषों की वर्षा ऐसी
बजे गगन में मंगल भेरी
मां तुम प्रथम बनी गुरु मेरी।

कविता – 7.
जीवन के घोर अंधेरो में,
प्रकाश जो बन कर आता है
हर लेता है वो दुःख सारे,
खुशियों की फसल उगाता है
बस वही गुरु कहलाता है
बस वही गुरु कहलाता है।
न कोई लालच करता है,
सच्चाई का सबक सिखाता है
सागर से ज्ञान सा भरा हुआ,
बस वही गुरु कहलाता है
बस वही गुरु कहलाता है।
परेशानियाँ पस्त करे जब
हिम्मत हम हारते जाएं,
धूमिल सी हो परिस्थितियां
हालात हमें जब भटकाएं,
नई राह एक दिखा कर हमको
सभी संशय जो मिटाता है,
सागर से ज्ञान सा भरा हुआ
बस वही गुरु कहलाता है।
बस वही गुरु कहलाता है।

कविता – 8.
शिष्य एक गुरु के हैं हम सब
एक पाठ पढ़ने वाले
एक फ़ौज के वीर सिपाही
एक साथ बढ़ने वाले
धनी निर्धनी ऊँच नीच का
हम में कोई भेद नहीं
एक साथ हम सदा रहे
तो हो सकता कुछ खेद नहीं
हर सहपाठी के दुःख को
हम अपना ही दुःख जानेंगे
हर सहपाठी को अपने से
सदा अधिक प्रिय मानेंगे
अगर एक पर पड़ी मुसीबत
दे देंगे सब मिल कर जान
सदा एक स्वर से सब भाई
गायेंगे स्वदेश का गान।

Guru Purnima Poem in Hindi



कविता – 9.
आदर्शों की मिसाल बनकर
बाल जीवन संवारता शिक्षक,
सदाबहार फूल -सा खिलकर
महकता और महकाता शिक्षक,
नित नए प्रेरक आयाम लेकर
हर पल भव्य बनता शिक्षक,
संचित ज्ञान का धन हमें देकर
खुशियाँ खूब मनाता शिक्षक,
पाप व लालच से डरने की
धर्मीय सीख सिखाता शिक्षक,
देश के लिए मर मिटने की
बलिदानी राह दिखता शिक्षक,
प्रकाशपुंज का आधार बनकर
कराव्या अपना निभाता शिक्षक,
प्रेम सरिता की बनकर धारा
नैया पार लगता शिक्षक !










कविता – 10.
अज्ञानी को ज्ञान वो दे
एक अलग नई पहचान वो दे
जब लगने लगे सब थक से गए
नई ऊर्जा और नई जान वो दे
जब साथ वो रहता है अपने
बुरा वक़्त पलटता जाता है
सागर से ज्ञान सा भरा हुआ
बस वही गुरु कहलाता है
बस वही गुरु कहलाता है
शिष्य का नाम बढ़े जग में
उसका यही अरमान है
सबके हृदय में उसके लिए
इसलिए सम्मान है
कभी छोड़ न मझदार में वो
मरते दम तक साथ निभाता है
सागर से ज्ञान सा भरा हुआ
बस वही गुरु कहलाता है।
बस वही गुरु कहलाता है।
नहीं अहंकार में कभी रहे
हर बात सदा ही सत्य कहे
उसके पावन उपदेशो में
अनुभव की सदा तरंग बहे
कोई आम शख्सियत नहीं है वो
हर देश का भाग्य विधाता है
सागर से ज्ञान सा भरा हुआ
बस वही गुरु कहलाता है।
बस वही गुरु कहलाता है।

No comments:

Post a Comment